Skip to content Skip to footer

कालगणनाक्रम .1

1 परमाणु = काल की सूक्ष्मतम अवस्था

2 परमाणु = 1 अणु

3 अणु = 1 त्रसरेणु

3 त्रसरेणु = 1 त्रुटि

10 त्रुटि = 11 प्राण

10 प्राण = 1 वेध

3 वेध = 1 लव

3 लव = 1 निमेष

1 निमेष = 1 पलक झपकने का समय

2 निमेष =1 विपल

3 निमेष = 1 क्षण

5 निमेष = 23 त्रुटि

23 त्रुटि = 1 सेकण्ड

20 निमेष = 10 विपल = 4 सेकण्ड

5 क्षण = 1 काष्ठा

15 काष्ठा =  1 दण्ड = 1 लघु

2 दण्ड = 1 मुहूर्त

15 लघु = 1 घटी = 1 नाड़ी

1 घटी = 24 मिनट

3 मुहूर्त = 1 प्रहर

2 घटी = 1 मुहूर्त = 48 मिनट

1 प्रहर = 1 याम

60 घटी = 1 अहोरात्र (दिन-रात)

8 प्रहर = 1 अहोरात्र

15 दिन-रात = 1 पक्ष

2 पक्ष = 1 मास

2 मास = 1 ऋतु

3 ऋतु = 6 मास

6 मास = 1 अयन

2 अयन = 1 वर्ष

6 ऋतु = 1 वर्ष

1 वर्ष = 1 संवत्सर = 1 अब्द

10 अब्द = 1 दशाब्द

100  अब्द = 1 शताब्द

घटी, घटिका, घड़ी, नाड़ी, नाड़िका, समानार्थक हैं।

60  तत्प्रति विकला= 1 प्रति विकला

60 प्रति विकला = 1 विकला

60  विकला = 1 कला

60  कला = 1 अंश (डिग्री)

30  अंश = 1 राशि

12 राशि = 1 भचक्र, भगण

कालगणनाक्रम .2

1 त्रुटि = कमल पत्र को सूई की नोंक से एक बार छेदने का समय

60 त्रुटि = 1 रेणु

60 रेणु = 1 लव

60  लव = 1 लीक्षक (1/15 सेकण्ड)

60 लीक्षक = 1 प्राण (4 सेकण्ड)

1 प्राण = 10 विपल (4 सेकण्ड)

60 विपल = 1 पल

60 पल = 1 घटी (24 मिनट)

1 घटी = 1 नाड़ी (24 मिनट)

1 नाड़ी = 1 दण्ड (24 मिनट)

60 घटी = 1 दिन-रात (24 घण्टे)

30 दिन-रात = 1 मास

12 मास = 1 वर्ष

1 मास = पितरों का एक दिन-रात

1 वर्ष = देवताओं का एक दिन-रात

कालगणनाक्रम .3

1 निमेष =  पलक झपकने का समय

3 निमेष = 1 क्षण

5 क्षण = 1 काष्ठा

15 निमेष = 1 काष्ठा

30 काष्ठा = 1 कला

30 कला = 1 मुहूर्त

30 मुहूर्त = 1 दिन-रात

15 दिन-रात = 1 पक्ष

2 पक्ष= 1 मास

कृष्णपक्ष = पितरों का 1 दिन

शुक्लपक्ष = पितरों की 1 रात

2 मास = 1 ऋतु

3 ऋतु = 1 अयन = 6 मास

2 अयन = 1 वर्ष

6 ऋतुएँ = 1 वर्ष

1 मास = पितरों का 1 दिन-रात

1 वर्ष = देवताओं का 1 दिन-रात

उत्तरायन = देवताओं का 1 दिन

दक्षिणायन = देवताओं की 1 रात

कालप्रमाण .4

100 त्रुटि = 1 लव = 1 तत्पर

30 लव = 1 निमेष

10 गुरु अक्षर = 1 प्राण= 1 असु

45 निमेष = 1 प्राण

6 प्राण = 1 पल = 1 बिनाडी = 1 विघटिका = 1 विघटी

10 विपल = 1 प्राण = 1 असु

60 विनाडी = 1 नाडी = 1 घटी =1 दण्ड

60 नाडी = 1 नक्षत्र दिन = 1 दिन-रात

7, 1/3 घटी = 1 प्रहर

8 प्रहर = 24 घंटा = 1 दिन-रात= 24 होरा

2 घटी = 1 मुहूर्त

30 मुहूर्त = 1 दिन-रात

7 दिन = सप्ताह, 2 सप्ताह = 1 पक्ष

30 दिन = 1 मास, 2 पक्ष = 1 मास

12 मास = 1 वर्ष

30 सावनदिन = 1 सावन मास

30 अहोरात्र = 1 सावन मास

30 चन्द्रतिथि = 1 चान्द्र मास

1 संक्रान्ति से दूसरी संक्रान्ति तक = 1 सौर मास

12 मास = 1 वर्ष= 1 दिव्य दिन

360 वर्ष = 1 दिव्य वर्ष

Add Comment

en_USEN