Skip to content Skip to footer

रत्न-परिचय

1. माणिक्य (Ruby): माणिक्य विश्व का सबसे महंगा रत्न है। यह कठोर, पारदर्शी और चमकदार होता है। इसका वास्तविक रंग लाल है श्रेष्ठ माणिक्य चिकना, पारदर्शी, पानीदार या रक्त की भांति गहरा लाल होता है। हथेली में माणिक्य हल्का गर्म प्रतीत होता है।

2. मोती (Pearl): मोती श्वेत, क्रीम, नीला, काला, हरा, बैंगनी, लाल, गुलाबी, जामुनी, पीला, आसमानी आदि रंगों में पाया जाता है। गज, सर्प, शंख, शूकर, मीन, मेघ और सीप मुक्ता आदि इसकी दुर्लभ जातियां हैं। श्रेष्ठ मोती सफेद रंग का भार में हल्का, स्निग्ध, निर्मल, प्रकाशमान, छाया उत्पन्न करने वाला और गोल होता है।

3. मंगा (Coral):  इसका मुख्य रंग लाल है किंतु सिंदूरी, गुलाबी, श्वेत, पांडुई, भूरा, धूसर आदि रंगों में भी पाया जाता है। समुद्रों में आइसिस कीड़े द्वारा बनाया गया घर ही मूंगे की जड़ या झाड़ कहलाता है। असली मूंगे पर पानी की बूंद ज्यों की त्यों टिकी रहती है।

4. पन्ना (Emerald): पन्ना पारदर्शक, चमकदार और नर्म रत्न है। यह स्वर्ण, गुलाबी, मोरपंखी, आसमानी, श्वेत आदि रंगों में पाया जाता है। इसका वास्तविक रंग हरा है। पन्ने को नजदीक से देखने पर आंखों को कुछ शीतलता प्रतीत होती है। प्रकाश के सम्मुख रखने पर पन्ने का प्रतिबिंब भी हरा ही दिखाई देगा। यह भार में कुछ हल्का प्रतीत होता है।

5. पुखराज (Topaz): श्रेष्ठ पुखराज रंगहीन, स्वच्छ, स्थूल, भारी, पारदर्शी और चमकीला होता है। यह पीला, हरा, लाल, गुलाबी, नीला, बैंगनी, केसर, स्वर्ण, हल्दी, नींबू आदि रंगों में देखा गया है। पुखराज को श्वेत रूई अथवा कपडे़ पर रखने से इसमें से नीले रंग की आभा निकलती दिखाई देती है। गर्म करने पर रंग सफेद हो जाता है।

6. हीरा (Diamond): हीरा रत्नों का राजा है। इसका सर्वोत्तम गुण कठोरता और दुर्लभता है। वास्तविक रंग श्वेत होता है किंतु क्रीम, भूरा, पीला, काला, हरा मटमैला, लाल, कत्थई आदि रंगों में भी हीरा पाया जाता है। हीरा हथेली मे कुछ ठंडा प्रतीत होता है। पानी में यह तैरने लगता है तथा पानी में डूबोने पर इसमें से किरणे निकलती हैं

7 नीलम (Blue Sapphire): नीला, लाल, श्वेत, हरा, बैंगनी, आसमानी आदि रंगों में पाया जाता है। श्रेष्ठ नीलम चिकना, चमकदार, पारदर्शी, किरणें परावर्तित करने वाला होता है।

8. गोमेद (Gargoon, Zircon):  इसका वास्तविक रंग गोमूत्र जैसा है। यह शहद, लाल, पीला, नारंगी, श्वेत, नीला, भूरा, उलूक नेत्र आदि रंगों में पाया जाता है। श्रेष्ठ गोमेद गोमूत्र की आभायुक्त, भारी, प्रकाशमान, मृदु, चिकना, गादपरत रहित, पारदर्शी होता है। सिलोनी गोमेद उत्तम माना जाता है। गोमूत्र में गोमेद का रंग 24 घंटों में बदल जाता है।

9. लहसुनिया (Cat’s eye): इसका वास्तविक रंग बिल्ली और आंख जैसा माना गया है किंतु यह पीला, काला, श्वेत, हरा, क्रीम, जर्द, सुनहरी, धूम्र, हड्डी, मिट्टी आदि रंगों में भी मिलता है। श्रेष्ठ लहसुनिया चमकीला, चिकना, भारी होता है। अंधेरे में बिल्ली की आंख की तरह चमकता है।

Add Comment

en_USEN