Skip to content Skip to footer
पहचानमकर राशि का स्वरूप- आकाशीय राशि प्रदेश में तारो को यदि रेखाओ से मिलाया जाये तो पृथ्वी के किसी बिंदु से आकाश में देखने पर मगरमच्छ के समान आकार दिखाई देता है ।  
जातक का स्वरूपअपने कुल में सबसे हीन अवस्था वाला, स्त्रियों के वशीभूत, विद्वान्, परनिन्दक, संगीतज्ञ, सुन्दर स्त्रीयों का प्रिय पात्र, पुत्रों से युक्त, माता का प्रिय, धनी, त्यागी, अच्छे नौकरों वाला, दयालु, बहुत भाईयों वाला, तथा सुख के लिए अधिक चिन्तन करने वाला होता है होता हैं ।
स्वामी ग्रहशनि
दिशा स्वामीदक्षिण
तत्त्वपृथ्वी
रंगश्वेत पीत
जीव संज्ञाधातु
कांति लक्षणरुक्ष
शरीर में स्थानजोड़े, घुटने
धातु विकारवात
भाग्य रत्ननीलम
वर्णवैश्य
वश्यचतु जल
स्वभाव संज्ञाचर
लिंगस्त्री
बलि समयरात्रि
उदय स्थितिप्रष्ठोदय

Add Comment

en_USEN