Skip to content Skip to footer
पहचानकुंभ राशि का स्वरूप- आकाशीय राशि प्रदेश में तारो को यदि रेखाओ से मिलाया जाये तो पृथ्वी के किसी बिंदु से आकाश में देखने पर घट को कंधे पर धारण किये हुए पुरुष के समान आकार दिखाई देता है ।  
जातक का स्वरूपदानी, आलसी, कृतज्ञ, परिश्रमी, क्रोधी, नम्र, शांत, सहायक, सामाजिक, धार्मिक, राजनीती पटु, वैज्ञानिक, ऋणी, छल-कपट रहित, धनवान, निर्भय होता हैं ।
स्वामी ग्रहशनि
दिशा स्वामीपश्चिम
तत्त्ववायु
रंगगहरा नीला
जीव संज्ञामूल
कांति लक्षणस्निग्ध
शरीर में स्थानपिंडली
धातु विकारसम
भाग्य रत्ननीलम
वर्णशुद्र
वश्यद्विपद
स्वभाव संज्ञास्थिर
लिंगपुरुष
बलि समयदिन
उदय स्थितिशीर्षोदय

Add Comment

en_USEN