Skip to content Skip to footer
  • ये तिथियाँ गृहारम्भ के लिये शुभ फल देने वाली हैं ।
  • द्वितीया तिथि शुभ फल देने वाली हैं ।
  • तृतीयाश तिथि शुभ फल देने वाली हैं ।
  • पंचमी तिथि शुभ फल देने वाली हैं ।
  • षष्ठी तिथि शुभ फल देने वाली हैं ।
  • सप्तमी तिथि शुभ फल देने वाली हैं ।
  • दशमी तिथि शुभ फल देने वाली हैं ।
  • एकादशी तिथि शुभ फल देने वाली हैं ।
  • द्वादशी तिथि शुभ फल देने वाली हैं ।
  • त्रयोदशी तिथि शुभ फल देने वाली हैं ।
  • पूर्णिमा तिथि शुभ फल देने वाली हैं ।
  • प्रतिपदा तिथि दरिद्रता कारक हैं ।
  • चतुर्थी तिथि धन नाशक हैं ।
  • अष्टमी तिथि उच्चाटन करने वाली हैं ।
  • नवमी तिथि धान्यनाशक तथा शस्त्र से चोट पहुँचाने वाली हैं ।
  • चतुर्दशी तिथि पुत्र व स्त्रियों का नाश करने वाली हैं ।
  • अमावस्या तिथि राजभय देने वाली हैं ।
  • सोम, बुध, गुरु, शुक्र और शनि – ये वार गृहारम्भ के लिये उत्तम हैं ।
  • रविवार और मंगलवार को गृहारम्भ (भूमि खोदने का कार्य)  नहीं करना चाहिये, अन्यथा अनिष्ट होने की सम्भावना हैं ।

Add Comment

en_USEN