Skip to content Skip to footer
पहचानकर्क राशि का स्वरूप- आकाशीय राशि प्रदेश में तारो को यदि रेखाओ से मिलाया जाये तो पृथ्वी के किसी बिंदु से आकाश में देखने पर केंकड़े के समान आकार दिखाई देता है ।  
जातक का स्वरूपकार्य करने वाला, धनवान, शूर, धार्मिक गुरु का प्रिंय, सर से रोगी, अतीव बुद्धिमान, दुर्बल शरीर वाला, सभी कार्यों का ज्ञाता, प्रवासी, भयंकर क्रोधी, निर्बल, दुःखी अच्छे मित्रों वाला, गृह में अरुचि रखने वाला तथा कुटिल होता है
स्वामी ग्रहचन्द्र
दिशा स्वामीउत्तर
तत्त्वजल
रंगरक्त श्वेत
जीव संज्ञाधातु
कांति लक्षणस्निग्ध
शरीर में स्थानह्दय
धातु विकारकफ
भाग्य रत्नमोती
वर्णब्राह्मण
वश्यजलचर कीट
स्वभाव संज्ञाचर
सौम्य / उग्रउग्र
लिंगस्त्री
बलि समयरात्रि
उदय स्थितिप्रष्ठोदय

Add Comment

en_USEN