Skip to content Skip to footer

बुध जन्म राशि के प्रथम स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को वन्धन होता है।

बुध जन्म राशि के दूसरे स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को घनलाभ होता है।

बुध जन्म राशि के तीसरे स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को मृत्यु की शङ्का होती है।

बुध जन्म राशि के चौथे स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को अर्थलाम होता है।

बुध जन्म राशि के पांचवे  स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को आनन्द का अभाव होता है।

बुध जन्म राशि के छठे स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को प्राप्ति होती है।

बुध जन्म राशि के सातवें स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को अनेक प्रकार की शारीरिक पीड़ा होती है।

बुध जन्म राशि के आठवें स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को धन का लाभ होता है।

बुध जन्म राशि के नवे स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को शारीरिक पीड़ा होती है।

बुधजन्म राशि के दशवे स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को सुख होता है।

बुध जन्म राशि के ग्यारहवें स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को अर्थलाभ होता है।

बुध जन्म राशि के बारहवें स्थान स्थान में स्थित होने पर मनुष्य को धन प्राप्ति होती है।

Add Comment

en_USEN