Skip to content Skip to footer

मेष राशि में राहु हो तो उस की दशा में अर्थ-लाभ, साधारण सफलत्ता, घरेलू झगडे, भाई से विरोध

वृष में हो तो राज्य से लाभ, अधिकारप्राप्ति, कष्टसहिष्णुता, सफलता

मिथुन में हो तो दशा के प्रारम्भ में कष्ट, मध्य में सुख

कर्क में हो तो अर्थलाभ, पुत्रलाभ नवीन कार्य करना, धन सचित करना;

सिंह में हो तो प्रेम, ईर्ष्या, रोग, सम्मान, कार्यों में सफलता

कन्या में हो तो मध्यवर्ग के लोगो से लाभ, व्यापार से लाभ, व्यसनों से हानि, नीच कार्यों से प्रेम, सन्तोष, तुला राशि का हो तो झंझट, अचानक कष्ट, बन्धुवान्धवों से क्लेश, धनलाभ, यश और प्रतिष्ठा को वृद्धि, वृश्चिक राशि का राहु हो तो आर्थिक कष्ट, शत्रुओं से हानि, नोचकार्यरत

धनु का हो तो यशलाभ, धारासभाओं में प्रतिष्ठा, उच्चपद-प्राप्ति

मकर का राहु हो तो सिर में रोग, वातरोग, आर्थिक संकट

कुम्भ का हो तो धनलाभ, व्यापार से साधारण लाभ, विजय

मीन का हो तो विरोध, झगडा, अल्पलाभ, रोग आदि बातें होती है ।

Add Comment

en_USEN