Skip to content Skip to footer

ग्रह को अनुकूल बनाने के लिए उस ग्रह का जो पौधा कहा गया हैं उस पौधे का आरोपण करके उसका सिंचन व पूजन करना चाहिए ।

जैसे – शनि ग्रह प्रतिकूल हो तो घर में शमी(खेजड़ी) का पौधा लगाना चाहिए । कुंडली में नवग्रह प्रतिकूल हो तो सभी ग्रहों को अनुकूल बनाने के लिए अपने घर में नवग्रह वाटिका का आरोपण करना चाहिए ।

ग्रहपौधे
सूर्यआक
चन्द्रपलाश
मंगलखैर
बुधअपामार्ग
गुरुपीपल
शुक्रगुलर
शनिशमी
राहुदूर्वा
केतुकुषा

आक/अर्क –  सूर्य ग्रह को अनुकूल बनाने के लिए आक के पौधे का पूजन करना चाहिए ।

पलाश – चंद्र ग्रह को अनुकूल बनाने के लिए पलाश की पूजा की जाती है ।

खैर – मंगल ग्रह को अनुकूल बनाने के लिए खैर की पूजा की जाती है ।

अपामार्ग – बुध ग्रह को अनुकूल बनाने के लिए अपामार्ग की पूजा की जाती है ।

पीपल – गुरु ग्रह को अनुकूल बनाने के लिए पीपल की पूजा की जाती है ।

उदुम्बर/गुलर – शुक्र ग्रह को अनुकूल बनाने के लिए उदुम्बर की पूजा की जाती है ।

शमी – शनि ग्रह को अनुकूल बनाने के लिए शमी की पूजा की जाती है ।

दूर्वा – राहु ग्रह को अनुकूल बनाने के लिए दूर्वा की पूजा की जाती है ।

कुशा – केतु ग्रह को अनुकूल बनाने के लिए कुशा की पूजा की जाती है ।

Add Comment

en_USEN