Skip to content Skip to footer

 मेष – लाल शरीर, कफ प्रकृति, अधिक क्रोधी, कृतघ्न, मंद बुद्धि, स्थिरता-युक्त, स्त्री तथा नौकरों से सदा पराजित

 वृष – मानसिक रोग, स्वजनों से अपमानित, प्रिय पुरुषों से वियोग, कलह युक्त, सदा दुःखी, शस्त्र से घातृ, धन क्षय

 मिथुन – गौरांग, स्त्री में आसक्त, राजा से पीड़ित, दूत का कर्म करे, प्रिय वाणी, बड़ा नम्र, गान विद्या में प्रवीण, सिर के बाल उत्तम ।

 कर्क – गौर अंग, मित्राधिक्य, पुरुषों की इच्छा पूरी करने वाला, हंसमुख स्वभाव, नदी में तैरने का प्रेमी, बड़ा बुद्धिमान्, पवित्र, क्षमावान्, धर्म में रुचि, सेवा करने योग्य।

 सिंह – पांडुवर्ण, वायु और कफ से पीड़ा, मांस प्रिय, बड़ा तीक्ष्ण, शूरवीर, बड़ा ढीठ, निरंतर भ्रमण करने वाला।

 कन्या– वात-पित्तं श्लेष्म युक्त, प्रिय, स्त्री से पराजित, वासना से दूर भागने वाला; मायावी,  काम से पीड़ित

 तुला– कफ युक्त, सत्य वक्ता, संदा स्त्रियों से स्नेह, राजा सें मान, देव पूजन में तत्पर

 वृश्चिक – ‘क्रोधी, वृद्धता युक्त राजा से पीड़ित, गुणों से युक्त, शास्त्रकला में प्रवीन, अनुरागी, शत्रुगणों को मारने वाला।

 धनु – राजा से सम्बन्ध रखने वाला, कार्य करने में प्रवीण, देव ब्राह्मण अनुरागी, घोड़ों को रखने वाला, सुहृदजनों का काम करने वाला, घोड़े के समान जंघा!

 मकर– संतोषी, बड़ा डरपोकं, पाप करने में निरंत, कफ और वायु को पीड़ा, लंबा शरीर, शत्रुजनों से ठग विद्या करने वाला।

कुंभ – धैर्ययुक्त, वात प्रकृति, अधिक जलसेवी, मित्र के उपकार के प्रति कृतज्ञ, मैथुन प्रिय, सज्जन अनुरागी, सब पुरुषों का प्रेमी। 

मीन – जलक्रीड़ा प्रेमी, बड़ा विनीत, स्त्री सहवास को उत्सुक, बड़ा पंडित, छोटा शरीर, बड़ा प्रचण्ड, पित्ताधिक्य, बड़ा यशस्वी।

Add Comment

en_USEN