Skip to content Skip to footer
नामलक्षणवास परिणाम
गजप्रष्ठदक्षिण, पश्चिम, नैॠत्य एवं वायव्य में उच्चलक्ष्मी से एवं आयु से पूर्ण
कूर्मप्रष्ठमध्य में ऊँची एवं चारों ओर नीचीनित्य उत्साह, धन-धान्य की विपुलता
दैत्यप्रष्ठपूर्व, आग्नेय एवं ईशान कोंण में ऊँची एवं पश्चिम में नीचीलक्ष्मी नही आती तथा धन, पुत्र एवं पशुओं की हानि होती हैं
नागप्रष्ठपूर्व एवं पश्चिम में दीर्घ एवं दक्षिण-उत्तर में उच्चमृत्यु, पत्नि एवं पुत्र की हानि तथा शत्रु-वृद्धि

Add Comment

en_USEN